Skip to content

यह है बवासीर के मस्से को जड़ से खत्म करने का उपाय (bawasir ke masse)

यह है बवासीर के मस्से को जड़ से खत्म करने का उपाय
5/5 - (3 votes)

Last Updated on 1 month by Sandip wankhade

8 way to get rid of piles wart| बवासीर के मस्से को जड़ से खत्म करने के 8 उपाय|bawasir ke masse


बवासीर के मस्से जिन्हे अंग्रेजी और वैद्यगिकीय भाषा में पाइल्स वार्ट्स, एनल वार्ट्स या कॉन्डिलोमा एक्युमिनैटम के रूप में भी जाना जाता है, ह्यूमन पेपिलोमावायरस (एचपीवी) के कारण होते हैं। वे अक्सर आकार में छोटे, मांस के रंग के या गुलाबी रंग के होते हैं, और गुदा या जननांगों के आसपास गुच्छों में दिखाई दे सकते हैं। अगर आपको बवासीर के मस्से हैं, तो इनको जड़ से खत्म करने के यह 8 उपाय है।

Table of Contents

1) सामयिक दवाएं है बवासीर के मस्से को जड़ से खत्म करने का उपाय (bawasir ke masse ko jad se khatm karne ka upay)

काउंटर पर कई सामयिक दवाएं उपलब्ध हैं जो बवासीर के मस्से, जैसे कि सैलिसिलिक एसिड या इमीकिमॉड का इलाज करने में मदद कर सकती हैं। ये दवाएं मस्से तयार करने वाले वायरस पर हमला करने के लिए आपके शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली को उत्तेजित करके काम करती हैं। बवासीर के मस्सों के लिए कुछ सामयिक दवाएं निम्नलिखित हैं

एप्लिकेशन ऑफ क्रीम: आपके चिकित्सक आपको एक एंटी-इंफ्लामेट्री क्रीम दे सकते हैं जो आपके मस्सों के दर्द और सूजन को कम करने में मदद कर सकती है।

ऑइंटमेंट: एक ऑइंटमेंट बवासीर के लक्षणों को ठीक करने में मदद कर सकती है। यह ऑइंटमेंट कुछ समय तक लगाया जाता है और इससे आपके मस्सों में जलन और सूजन कम होती है।

आयुर्वेदिक दवाएं: कुछ आयुर्वेदिक दवाएं भी मस्सों के लक्षणों को कम करने में मदद कर सकती हैं। ये दवाएं बेहतर हेल्थ के लिए शूष्क और आर्श बाल्म जैसे भी हो सकती हैं।

पर ध्यान रहें इन दवाओं को केवल अपने चिकित्सक के सलाह पर इस्तेमाल करें। क्योंकि ये सामयिक दवाएं सभी के लिए काम नहीं कर सकती हैं और अधिक गंभीर मामलों के लिए और बवासीर के मस्से को जड़ से खत्म करने के लिए सर्जरी या लेजर थेरेपी जैसे अन्य उपचार आवश्यक हो सकते हैं। बवासीर या मस्से के लिए किसी भी सामयिक दवा का उपयोग करने से पहले स्वास्थ्य देखभाल पेशेवर से परामर्श करना हमेशा सबसे अच्छा होता है।

2) बवासीर के मस्से को जड़ से खत्म करने का लेजर उपचार (bawasir ke masse ko jad se khatm karne ka upay)

लेजर उपचार में मस्से को नष्ट करने के लिए लेजर का उपयोग करना शामिल है। यह आमतौर पर स्थानीय संज्ञाहरण के तहत किया जाता है और यह अपेक्षाकृत दर्द रहित प्रक्रिया है। बवासीर या मस्सों को हटाने के लिए कई तरह के लेजर उपचार उपलब्ध हैं। इन स्थितियों के लिए कुछ सबसे आम लेजर उपचारों में शामिल हैं।

CO2 लेजर उपचार: इस प्रकार के लेजर उपचार का उपयोग आमतौर पर बवासीर और मस्सों को हटाने के लिए किया जाता है। यह प्रकाश की एक उच्च-तीव्रता वाली किरण का उपयोग करके प्रभावित ऊतक को वाष्पीकृत करके काम करता है।

Nd:YAG लेज़र उपचार: इस प्रकार के लेज़र उपचार का उपयोग अक्सर मस्सों को हटाने के लिए किया जाता है। यह प्रभावित ऊतक को उच्च तीव्रता वाली प्रकाश ऊर्जा प्रदान करके काम करता है, जिससे यह गर्म हो जाता है और अंततः मर जाता है।

स्पंदित-डाई लेजर उपचार: बवासीर और मस्से को हटाने के लिए आमतौर पर इस प्रकार के लेजर उपचार का कम उपयोग किया जाता है, लेकिन यह कुछ मामलों में प्रभावी हो सकता है। यह प्रभावित ऊतक को उच्च-तीव्रता वाले प्रकाश की छोटी-छोटी फुहारें देकर काम करता है, जिससे यह टूट जाता है और अंततः शरीर द्वारा समाप्त हो जाता है।

यह ध्यान रखना महत्वपूर्ण है कि बवासीर और मस्सों को हटाने के लिए लेजर उपचार एक प्रभावी तरीका हो सकता है, लेकिन यह सभी के लिए उपयुक्त नहीं हो सकता है। आपको यह निर्धारित करने के लिए अपने डॉक्टर से बात करनी चाहिए कि क्या लेजर उपचार आपके लिए एक अच्छा विकल्प है, और आपकी विशेष स्थिति के लिए किस प्रकार का लेजर उपचार सबसे उपयुक्त है।

3) बवासीर के मस्से को जड़ से खत्म करने का उपाय है क्रायोथेरेपी (bawasir ke masse ko jad se khatm karne ka upay)

क्रायोथेरेपी एक चिकित्सा उपचार है जो असामान्य ऊतक वृद्धि, जैसे मस्से या बवासीर (बवासीर) को नष्ट करने के लिए अत्यधिक ठंडे तापमान का उपयोग करता है। हालांकि, बवासीर के उपचार के रूप में क्रायोथेरेपी की प्रभावशीलता स्थिति की गंभीरता के आधार पर भिन्न हो सकती है।

क्रायोथेरेपी में प्रभावित क्षेत्र पर तरल नाइट्रोजन लगाना शामिल है, जो असामान्य ऊतक को जमा देता है और नष्ट कर देता है। प्रक्रिया दर्दनाक हो सकती है, और असुविधा को कम करने के लिए स्थानीय संज्ञाहरण की आवश्यकता हो सकती है।

जबकि बवासीर के कुछ मामलों के इलाज में क्रायोथेरेपी प्रभावी हो सकती है, यह हमेशा पहली पंक्ति का उपचार विकल्प नहीं होता है। बवासीर के अन्य उपचारों में जीवनशैली में बदलाव शामिल हो सकते हैं, जैसे कि फाइबर का सेवन बढ़ाना और हाइड्रेटेड रहना, साथ ही गंभीर मामलों में सामयिक दवाएं, सपोसिटरी या सर्जरी।

आपको बता दें कि, बवासीर के अपने व्यक्तिगत मामले के लिए उपचार का सर्वोत्तम तरीका निर्धारित करने के लिए एक चिकित्सा पेशेवर से परामर्श करना महत्वपूर्ण है।

4) बवासीर के मस्से को जड़ से खत्म करने का इलेक्ट्रोक्यूटरी उपाय (bawasir ke masse ko jad se khatm karne ka upay)

बवासीर के मस्से को जड़ से खत्म करने का इलेक्ट्रोक्यूटरी एक प्रभावी उपाय है। आपको बता दें कि, इलेक्ट्रोक्यूटरी एक चिकित्सा प्रक्रिया है जो ऊतक को जलाने और निकालने के लिए उच्च आवृत्ति विद्युत प्रवाह का उपयोग करती है। यह आमतौर पर मस्से सहित त्वचा के घावों के उपचार में प्रयोग किया जाता है।

हालांकि, पाइल्स (बवासीर के रूप में भी जाना जाता है) के इलाज के लिए इलेक्ट्रोकॉटरी सबसे अच्छा विकल्प नहीं हो सकता है, क्योंकि यह आमतौर पर बड़े, आंतरिक ऊतक द्रव्यमान के बजाय छोटे त्वचा के घावों को हटाने के लिए उपयोग किया जाता है। इसके अलावा, इलेक्ट्रोकॉटरी एक दर्दनाक और आक्रामक प्रक्रिया हो सकती है, जो गुदा जैसे संवेदनशील क्षेत्र के इलाज के लिए आदर्श नहीं हो सकती है।

पाइल्स के लिए कई अन्य उपचार उपलब्ध हैं, जिनमें दवा, जीवन शैली में बदलाव और रबर बैंड लिगेशन या स्क्लेरोथेरेपी जैसी न्यूनतम इनवेसिव प्रक्रियाएं शामिल हैं। आपकी व्यक्तिगत जरूरतों के लिए सबसे उपयुक्त उपचार योजना निर्धारित करने के लिए स्वास्थ्य देखभाल पेशेवर से परामर्श करना सबसे अच्छा है।

5) बवासीर के मस्से से छुटकारा पाने का उपाय रासायनिक दाग़ना (Chemical cauterization)

मस्से और बवासीर सहित कुछ प्रकार की त्वचा की वृद्धि को दूर करने के लिए रासायनिक दाग़ना का उपयोग किया जा सकता है। हालांकि, उपचार किए जा रहे विकास के प्रकार और स्थान के आधार पर रासायनिक दाग़ने की विशिष्ट विधि भिन्न भिन्न हो सकती है।

बवासीर या गुदा मस्से के उपचार के लिए, ट्राइक्लोरोएसेटिक एसिड (TCA) या पॉडोफिलिन जैसे रसायन युक्त घोल को प्रभावित क्षेत्र पर लगाया जा सकता है। ये रसायन विकास के ऊतक को नष्ट करके काम करते हैं, जिससे यह धीमा हो जाता है और अंततः ठीक हो जाता है।

यह ध्यान रखना महत्वपूर्ण है कि रासायनिक दाग़ना केवल एक योग्य स्वास्थ्य सेवा प्रदाता द्वारा ही किया जाना चाहिए, क्योंकि यह दर्द और परेशानी पैदा कर सकता है, और अगर सही तरीके से नहीं किया जाता है तो निशान या अन्य जटिलताएं हो सकती हैं। इसके अलावा, यह सभी प्रकार की त्वचा वृद्धि या कुछ चिकित्सीय स्थितियों वाले व्यक्तियों के लिए उपयुक्त नहीं हो सकता है।

बवासीर और मस्से के लिए अन्य उपचारों में क्रायोथेरेपी (तरल नाइट्रोजन के साथ वृद्धि को ठंडा करना), इलेक्ट्रोक्यूटरी (विद्युत प्रवाह के साथ वृद्धि को जलाना), या शल्य चिकित्सा हटाने शामिल हो सकते हैं। अपने विशिष्ट मामले के लिए कार्रवाई का सबसे उपयुक्त तरीका निर्धारित करने के लिए अपने स्वास्थ्य सेवा प्रदाता के साथ प्रत्येक उपचार विकल्प के जोखिमों और लाभों पर चर्चा करना महत्वपूर्ण है।

6) बवासीर के मस्से से छुटकारा पाने का हर्बल उपाय (Herbal remedies)

कुछ लोग बवासीर के मस्से को जड़ से खत्म करने के लिए हर्बल उपचार का उपयोग करना पसंद करते हैं। यहाँ कुछ हर्बल उपचार दिए गए हैं जो बवासीर के मस्से से छुटकारा पाने के लिए मदद कर सकते हैं:

विच हेज़ल: यह जड़ी बूटी एक प्राकृतिक कसैला है और इसका उपयोग सदियों से सूजन और सूजन को कम करने के लिए किया जाता रहा है। आप कॉटन बॉल या पैड का उपयोग करके सीधे प्रभावित क्षेत्र पर विच हेज़ल लगा सकते हैं।

एलोवेरा: एलोवेरा के पौधे के जेल में एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं जो बवासीर के आकार को कम करने में मदद कर सकते हैं। जेल को सीधे प्रभावित क्षेत्र पर लगाएं।

टी ट्री ऑयल: इस तेल में प्राकृतिक जीवाणुरोधी और एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं। चाय के पेड़ के तेल की कुछ बूंदों को एक वाहक तेल, जैसे नारियल या जैतून के तेल के साथ मिलाएं और प्रभावित क्षेत्र पर लगाएं।

एप्सम नमक: एप्सम नमक सूजन को कम करने और बवासीर से जुड़े दर्द से राहत दिलाने में मदद कर सकता है। अपने नहाने के पानी में एक कप एप्सम सॉल्ट मिलाएं और उसमें 20-30 मिनट के लिए भिगो दें।

लहसुन: लहसुन में प्राकृतिक जीवाणुरोधी और एंटीफंगल गुण होते हैं। लहसुन की कुछ कलियों को पीसकर नारियल के तेल में मिलाएं, फिर प्रभावित जगह पर लगाएं।

यह ध्यान रखना महत्वपूर्ण है कि यद्यपि हर्बल उपचार बवासीर से कुछ राहत प्रदान कर सकते हैं, बवासीर के मस्से को जड़ खत्म करने के लिए यह चिकित्सा उपचार का विकल्प नहीं हो सकता हैं। यदि आपके लक्षण बने रहते हैं या बिगड़ जाते हैं, तो स्वास्थ्य देखभाल पेशेवर से परामर्श करना सबसे अच्छा है।

7) बवासीर के मस्से से छुटकारा पाने के लिए आहार में बदलाव करें (bawasir ke masse ko jad se khatm karne ka upay)

पाइल्स (बवासीर के रूप में भी जाना जाता है) और मौसा दो अलग-अलग स्थितियां हैं जिनके लिए अलग-अलग उपचार के तरीकों की आवश्यकता होती है।

बवासीर मलाशय क्षेत्र में सूजी हुई नसें हैं जो असुविधा, रक्तस्राव और खुजली का कारण बन सकती हैं। आहार परिवर्तन लक्षणों को कम करने और आगे की जलन को रोकने में मदद कर सकते हैं। कुछ आहार परिवर्तन जो मदद कर सकते हैं उनमें शामिल हैं:

  • फाइबर का सेवन बढ़ाना: अधिक फाइबर खाने से मल को नरम करने में मदद मिल सकती है और इसे पास करना आसान हो जाता है, मलाशय पर तनाव कम हो जाता है। फाइबर के अच्छे स्रोतों में फल, सब्जियां, साबुत अनाज और फलियां शामिल हैं।
  • खूब पानी पीना: हाइड्रेटेड रहना कब्ज को रोकने में मदद कर सकता है, जो बवासीर को बढ़ा सकता है।
  • मसालेदार और वसायुक्त भोजन से परहेज: ये पाचन तंत्र को परेशान कर सकते हैं और बवासीर के लक्षणों को खराब कर सकते हैं।
  • छोटे, अधिक बार भोजन करना: यह मल त्याग को नियंत्रित करने और मलाशय पर तनाव को कम करने में मदद कर सकता है।

दूसरी ओर, मौसा एक वायरल संक्रमण के कारण होते हैं और उन्हें हटाने के लिए चिकित्सा उपचार की आवश्यकता होती है। अकेले आहार परिवर्तन से मौसा ठीक होने की संभावना नहीं है। हालांकि, एक स्वस्थ आहार प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ावा देने में मदद कर सकता है, जो वायरस से लड़ने में सहायता कर सकता है। एक स्वस्थ प्रतिरक्षा प्रणाली के लिए कुछ आहार युक्तियों में शामिल हैं:

  • बहुत सारे फल, सब्जियां, साबुत अनाज और लीन प्रोटीन स्रोतों के साथ संतुलित आहार लेना।
  • खूब पानी पीकर और मीठे और कैफीनयुक्त पेय पदार्थों को सीमित करके हाइड्रेटेड रहना।
  • प्रसंस्कृत और उच्च वसा वाले खाद्य पदार्थों से बचना जो सूजन में योगदान कर सकते हैं।
  • शराब का सेवन सीमित करना और धूम्रपान छोड़ना, क्योंकि दोनों ही प्रतिरक्षा प्रणाली को कमजोर कर सकते हैं।

यह ध्यान रखना महत्वपूर्ण है कि बवासीर या मस्से के लिए एकमात्र उपचार के रूप में आहार परिवर्तन पर भरोसा नहीं किया जाना चाहिए। बवासीर के मस्से को जड़ खत्म करने के लिए, यदि आप किसी भी स्थिति के लक्षणों का अनुभव कर रहे हैं, तो उचित निदान और उपचार के लिए स्वास्थ्य देखभाल पेशेवर से परामर्श करना सबसे अच्छा है।

8) बवासीर के मस्से से छुटकारा पाने का उपाय है सिट्ज़ बाथ (bawasir ke masse ko jad se khatm karne ka upay)

प्रभावित हिस्से को गर्म पानी में भिगोने से बवासीर के लक्षणों से राहत मिल सकती है। मस्से के लिए, प्रभावित क्षेत्र को 10-15 मिनट के लिए गर्म पानी में भिगोने से त्वचा को नरम करने में मदद मिल सकती है और मस्से को हटाना आसान हो जाता है।

9)  बवासीर के मस्से हटाने से छुटकारा पाने के लिए जीवनशैली में बदलाव करें (bawasir ke masse ko jad se khatm karne ka upay)

पाइल्स, जिसे बवासीर भी कहा जाता है, गुदा नलिका में सूजी हुई नसें होती हैं। जबकि मस्से एक वायरल संक्रमण के कारण होते हैं, और शरीर पर कहीं भी दिखाई दे सकते हैं। यहां जीवनशैली में कुछ बदलाव दिए गए हैं जो बवासीर और मस्सों को प्रबंधित करने में मदद कर सकते हैं:

पाइल्स के लिए:

  • फाइबर का सेवन बढ़ाएं: मल को नरम करने और कब्ज को रोकने के लिए फल, सब्जियां और साबुत अनाज जैसे उच्च फाइबर वाले खाद्य पदार्थ खाएं, जो बवासीर को बढ़ा सकते हैं।
  • हाइड्रेटेड रहें: मल को नरम रखने और कब्ज को रोकने के लिए खूब पानी और अन्य तरल पदार्थों का सेवन करें।
  • नियमित व्यायाम करें: नियमित व्यायाम कब्ज को रोकने और रक्त प्रवाह में सुधार करने में मदद कर सकता है, जिससे बवासीर का खतरा कम हो जाता है।
  • लंबे समय तक बैठने से बचें: लंबे समय तक बैठे रहने से गुदा क्षेत्र पर दबाव पड़ सकता है और बवासीर बिगड़ सकता है। हर घंटे खड़े होने और घूमने की कोशिश करें।
  • अच्छी स्वच्छता का अभ्यास करें: गुदा क्षेत्र को साफ और सूखा रखें, और कठोर साबुन या वाइप्स का उपयोग करने से बचें जो त्वचा को परेशान कर सकते हैं।
  • गुनगुने पानी से स्नान करें: गुनगुने पानी से नहाने या सिट्ज़ बाथ लेने से सूजन कम करने और बवासीर के लक्षणों से राहत पाने में मदद मिल सकती है।

मस्सा हटाने के लिए:

  • ओवर-द-काउंटर उपचार का उपयोग करें: ओवर-द-काउंटर मस्सा उपचार, जैसे सैलिसिलिक एसिड या फ्रीजिंग स्प्रे, मौसा को हटाने में मदद कर सकते हैं।
  • क्षेत्र को साफ और सूखा रखें: वायरस के प्रसार को रोकने के लिए प्रभावित क्षेत्र को नियमित रूप से साबुन और पानी से धोएं और इसे सूखा रखें।
  • चुभने या खुरचने से बचें: मस्से को नोचने या खरोंचने से वे फैल सकते हैं या संक्रमित हो सकते हैं।
  • अपनी प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ावा दें: कमजोर प्रतिरक्षा प्रणाली वाले लोगों में मौसा विकसित होने की संभावना अधिक होती है, इसलिए स्वस्थ आहार लें, पर्याप्त नींद लें और अपनी प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ावा देने के लिए तनाव का प्रबंधन करें।
  • चिकित्सा उपचार की तलाश करें: यदि ओवर-द-काउंटर उपचार प्रभावी नहीं हैं, या यदि मस्से विशेष रूप से बड़े या दर्दनाक हैं, तो एक स्वास्थ्य देखभाल पेशेवर विभिन्न तरीकों का उपयोग करके उन्हें हटाने में सक्षम हो सकता है, जैसे कि सर्जरी, लेजर उपचार, या क्रायोथेरेपी ( मस्से को ठंडा करना)।

यह ध्यान रखना महत्वपूर्ण है कि जीवनशैली में ये बदलाव बवासीर या मस्से को पूरी तरह से खत्म नहीं कर सकते हैं, और कुछ मामलों में अभी भी चिकित्सा उपचार आवश्यक हो सकता है। व्यक्तिगत सलाह और उपचार के विकल्पों के लिए एक स्वास्थ्य देखभाल पेशेवर से परामर्श करें।

दोस्तो आशा करता हूं आपको इस लेख से प्राथमिक उपचार के साथ साथ अन्य उपचार के बारे में भी सही जानकारी मिली होगी। जिनको अपनाकर व्यक्ती बवासीर के मस्से को जड़ से खत्म कर सकता है।

Spread the love

2 thoughts on “यह है बवासीर के मस्से को जड़ से खत्म करने का उपाय (bawasir ke masse)”

  1. यह ब्लॉग पोस्ट सचमुच महत्वपूर्ण है! बवासीर की समस्या के साथ लगातार संघर्ष करने वालों के लिए यह उपाय वाकई एक आश्चर्यजनक राहत देने वाला है। ब्लॉग पोस्ट में वर्णित किए गए उपायों के बारे में विस्तृत जानकारी देने के लिए आपका आभार।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: प्रिय पाठक ऐसे कॉपी ना करें डायरेक्ट शेयर करें नीचे सोशल मीडिया आइकॉन दिए हैं