Skip to content

क्या आपके मन में भी यह सवाल आया है कि, मुठ मारने से क्या होता है (muth marne se kya hota hai) जाने इस लेख में

Muth marne ke kya hota hai
4.7/5 - (11 votes)

Muth marna|मुठ मारना| muth marne se kya hota hai|मुठ मारने से क्या होता है|मुठ मारने से कौन कौन सी बीमारियां होती हैं|मुठ मारने से क्या शरीर में कमजोरी आती है| hastmaithun|हस्तमैथुन|


हर युवा के दिमाग में यह सवाल जरुर आता है कि, मुठ मारने से क्या होता है (muth marne se kya hota hai) मुठ मारने से क्या शरीर में कमजोरी आती हैं? मुठ मारने से क्या नुकसान होते है? युवा तो यहां तक सोचते हैं कि, क्या मुठ मारने से कुछ फायदे होते है? तो चलिए जानते हैं, इस लेख में मुठ मारने से क्या होता है (muth marne se kya hota hai)

आपको बता दें कि, मुठ मारना (muth marna) कोई गलत बात नहीं है, बल्की यह प्राकृतिक है। हर कोई अपने वासना को शांत करने के लिए, सेक्सुअल तनाव को कम करने के लिए मुठ मरता है। डॉक्टर तो इसके बारे में कहते हैं कि, यह सबसे ज्यादा सुरक्षित तरीका है। सभी लिंग और जाती के लोग मुठ मारते हैं।
(Muth marne se kya hota hai) डॉक्टरों के मुताबिक़ यदी कोई अत्याधिक मुठ नही मारता है तो, मुठ मारने से किसी भी प्रकार का शारीरिक और मानसिक नुकसान नहीं होता है। लेकिन अत्याधिक मुठ मारने से जरूर कुछ नुकसान होते है।

Table of Contents

मुठ मारने से क्या नुकसान होता है (muth marne se kya nuksan hota hai)

विशेषज्ञ मानते हैं कि, मुठ मारना (muth marna) किसी भी तरह से नुकसान देह नहीं है। लेकिन आपने जरूर सुना या देखा होगा कि, लोग मुठ मारना (muth marna) गलत मानते हैं। जो लोग मुठ मारने को गलत मानते हैं। उन लोगों को या तो इसके बारे में जानकारी नहीं है, या फिर उन लोगों को किसी ने गलत जानकारी दी है। जो लोग मुठ मारने को गलत मानते हैं। वे लोग खास कर ऐसा धार्मिक आधार पर ही कहते है। क्योंकि धर्म इस इस चीज को गलत मानता है। लेकिन विज्ञान इसे गलत नही मानता है। पर हां! किसी भी चीज़ की अति करना हमेशा नुकसान देह होता है। ज्यादा मुठ मारने से होने वाले नुकसान कुछ इस प्रकार के है।

1) मुठ मारने से व्यक्ती शर्मनाक महसूस करता है (muth marne se vyakti sharmnak mahsus karta hai)

मुठ मारना (muth marna) व्यक्ती के लिए हमेशा आनंददायक नही होता है। कभी कभार यह किसी भी पुरुष या महिला के लिए शर्मनाक होता है। इसके पिछे का कारण नैतिकता और धार्मिकता है। आपको बता दें कि, बहुत से लोग इसे धर्म और संस्कृति के खिलाफ मानते हैं।

2) मुठ मारने से त्वचा फटती है (muth marne se twacha fatati hai)

यदी व्यक्ती लिमिट में मुठ मारता है तो, यह समस्या नही होती है। पर अत्याधिक मुठ मारने से व्यक्ती के प्राइवेट पार्ट की त्वचा में दरार आ सकती है, तथा वह फट भी सकती है।

3) मूठ मारने से सूजन आ सकती है (muth marne se sujan aa sakti hai)

यदी कोई पुरुष अपने प्राइवेट पार्ट को कस कर पकड़ के सहलाता है तो, प्राइवेट पार्ट पर सूजन आ सकती है, तथा प्राइवेट पार्ट की नसे भी कभी डैमेज हो सकती है। वही अगर हम बात महिलाओं की करे तो, यदी कोई महिला किसी मोटे और खुरखुरे चीज़ का इस्तेमाल करती हैं तो, उससे महिला के प्राइवेट पार्ट में सूजन या जखन आ सकती है।

4) मुठ मारने से शरीर में कमजोरी आती है (muth marne se sharir me kamjori aati hai)

यह बात तो आप जानते ही होंगे कि, कोई भी कार्य बीना उर्जा के नही हो सकता है। हर काम के लिए उर्जा की जरूरत होती है। मुठ मारने के दौरान भी ऊर्जा लगती हैं। विषेशज्ञ मानते हैं कि, मुठ मारते वक्त भी काफी सारी ऊर्जा शरीर से बाहर निकलती है। जिस ऊर्जा को हम इस काम के दौरान खो देते हैं। वह ऊर्जा इतनी आसानी से एक दिन में प्राप्त नहीं हो सकती है। जिस कारण व्यक्ती को मूठ मारने से कमजोरी आती है, तथा दुबलापन भी आता है। क्युकी हमारे वीर्य के साथ कई सारे शरीर में मौजूद तत्व बाहर निकलते हैं। जिन्हे रिकवर होने में वक्त लगता है।

5) मुठ मारने से लत लग सकती है। (Muth marne ke lat lag sakti hai)

मुठ मारना गलत नहि है। लेकिन ज्यादा मात्रा में इस काम को करने से इस काम की व्यक्ती को लत लग सकती है। कोई भी पुरुष हो या महिला यदी मुठ ज्यादा मारते हैं तो, उन्हे इसकी आदत लग सकती है। वे लोग हर बार इसके बारे में ही सोचते रहते हैं। जिस कारण उनका दैनिक जीवन प्रभावित होता है।

6) मुठ मारने से किसी भी काम में मन नहीं लगता है (muth marne se kisi bhi kam me man nahi lagta hai)

ज्यादा मुठ मारने से पुरुष हो या महिला उनका किसी भी काम में मन नहीं लगता है। ज्यादा मुठ मारने से व्यक्ती की ऊर्जा ज्यादा खर्च होती हैं। जिससे उसे थकान आती हैं और उसका किसी भी चीज़ में फिर मन नहीं लगता है।

7) मुठ मारने से नपुंसकता आती हैं (muth marne se napusankta aati hai)

हम पहले ही बता चुके हैं कि, मुठ मारना गलत नहीं है। ज्यादा मात्रा में मुठ मारना गलत है। यह बात सच है कि, यदी कोई ज्यादा बार मुठ मारता है तो, नपुंसकता आती हैं। इसके पिछे का कारण है, ज्यादा बार मुठ मारने से आई हुई कमजोरी है। क्युकी यदी कमजोरी आती हैं तो, नपुंसकता भी तो जरूर आएंगी ही। लेकिन डॉक्टर इस बारे में जानकारी देते हैं कि, यह नपुसंकता हमेशा के लिए नहीं होती है। जैसे ही व्यक्ती अपनी कमजोरी दूर करता है तो, नपुंसकता भी अपने आप दूर हो जाती है।

मान लो यदि कोई व्यक्ती भलेही मुठ ना मारता हो। लेकिन वह यदी कमजोर है तो, उसमें नपुंसकता तंदरुस्त व्यक्ती से ज्यादा होती हैं।

buy now condoms combo pack.offer

Carbamide Forte टेस्टोस्टेरोन सप्लीमेंट पुरुषों के लिए गोखरू 1000mg, अश्वगंधा, L-सिट्रललाइन और कौंच बीज के साथ – 60 वेज टैबलेट

Read this – क्या आप जानते हैं पोर्नोग्राफी किसे कहते हैं और दुनिया में पॉर्नोग्राफी की शुरूआत कैसे हुई?

मुठ मारने के फायदे (muth marne ke fayde)

मुठ मारने के ना केवल नुकसान, बल्की फायदे भी कई सारे है। लेकिन यह फायदे आपको तभी दिख सकते हैं, जब आप लिमिट में मुठ मारते हैं। किसी भी चीज़ की अति इन्सान के लिए ठीक नहीं होती है।

1) मुठ मारने से खुशी महसुस होती हैं (muth marne se khushi mahsus hoti hai)

मुठ मारने से हमारे दिमाग में डोपमाइन हार्मोन रिलीज होता है। आपको बता दें कि, यह हार्मोन खुशी पैदा होने पर रिलीज होता है। जब व्यक्ती मुठ मारता है, तब यह हार्मोन रिलीज होता है। जिससे व्यक्ती को खुशी या चरम सुख महसूस होता है।

2) मुठ मारने से पीड़ा दूर होती हैं (muth marne se pida dur hoti hai)

मुठ मारने से व्यक्ति की पीड़ा दूर होने में मदद मिलती है। जब व्यक्ती मुठ मारता है, तब दिमाग में एंडोर्फिन नामक हार्मोन रिलीज होता है। यह हार्मोन पीड़ा दूर करने में व्यक्ती को सहायता करता है। जब व्यक्ती मुठ मारता है, तब यह रिलीज होता है। जिससे पीड़ा दूर होने की अनुभूति व्यक्ती को होती हैं।

3) मुठ मारने से लव हार्मोंन रिलीज होता है (muth marne se Love harmon rilij hota hai)

प्यार से जुड़ा हार्मोन ऑक्सीटोसिन है। इसे लव हार्मोंन भी कहते है। यह हार्मोन व्यक्ति के मन में प्यार को जगाता है। मुठ मारने से यह हार्मोन रिलीज होता है, जिससे प्यार करने की इच्छा जागृत होती हैं।

4) मुठ मारने से नया वीर्य बनने में मदद मिलती है (muth marne se naya virya banane me madad milti hai)

मुठ मारने से व्यक्ती का शरीर नया वीर्य बनाने के लिए हमेशा एक्टिव रहता है। मुठ मारने से वीर्य बाहर निकलने पर ही यह संभव है।

5) मुठ मारने से तनाव दूर होता है (muth marne se tanav dur hota hai)

मुठ मारने से तनाव आता है ऐसा कई लोग कहते है। लेकिन यदी आप इस बारे में डॉक्टर से सलाह लेंगे तो, वे इस बात को नकारते हुए आपको मिलेंगे। आपको बता दें कि, यदी कोई ज्यादा बार मुठ मारता है तो, जरूर आपको तनाव महसूस होगा। लेकिन यदी आप कभी कभार मुठ मारते हैं तो, आपको तनाव महसूस नहीं होगा। बल्की आपका तनाव दूर होगा।

6) मुठ मारने से वासना पर काबू रहता है (muth marne se wasna par kabu rahta hai)

आपको बता दें कि, अपने वासना पर काबू पाने का सबसे कॉमन तरीका मुठ मारना (muth marna) है।

7) मुठ मारने से शीघ्रपतन पर काबू पाया जा सकता है (muth marne se shighrpatan par kabu paya ja sakta hai)

कोई भी पुरुष या महिला जल्दी डिस्चार्ज से ग्रसित है तो, वे मुठ मारने के दौरान इसकी जांच पड़ताल कर सकते हैं, तथा वे इसपर काबू पाने का तरीका सिख सकते हैं। वे सिख सकते हैं कि, कब रुकना है? कितने देर तक रुकना? किस गती से मीटिंग करने पर वह जल्दी डिस्चार्ज होता है? इसकी जांच वह ख़ुद कर सकता है और इस समस्या से निजात पा सकता है।

8) मुठ मारने से चैन की नींद आती हैं (muth marne se chain ki nind aati hai)

जब व्यक्ती की भावना बेकाबू होती हैं और उसके पास दूसरा कोई चारा नहीं होता है तो, व्यक्ती मुठ मार कर भावना को काबू कर सकता है और चैन की नींद सो सकता है। यदी सोने से पहले आपके मन में मीटिंग से रिलेटेड विचार आते है और आपको नींद नहीं आती हैं तो, आप ऐसा कर सकते हैं। क्युकी चैन की नींद किसी के भी सेहत के लिए जरूरी होती हैं।

9) मुठ मारने से मानसिक शांती मिलती है (muth marne se mansik shanti milti hai)

जब व्यक्ती मुठ मारते वक्त अपने अंतिम समय में होता है और जब व्यक्ती डिस्चार्ज होता है, तब व्यक्ती को मानसिक शांति मिलती है।

10) मुठ मारने से प्राइवेट पार्ट की एक्सरसाइज होती हैं (muth marne se private part ki exercise hoti hai)

आपको बता दें कि, मुठ मारने से व्यक्ती के प्राइवेट पार्ट की एक्सरसाइज होती हैं। जिससे व्यक्ती के प्राइवेट पार्ट की नसे मजबूत होती हैं।

11) मुठ मारने से कैंसर का धोखा कम होता है (muth marne se canser ka dhokha kam hota hai)

Myupchar.com वेबसाइट पर मिले जानकारी के मुताबिक़ बताया गया है कि, वीर्यपात होने से कैंसर का धोखा कम हो जाता है। इससे जुड़ा 2015 में एक अध्ययन किया गया था। जिससे यह पता चल पाया था कि, जिन लोगों को कैंसर का खतरा था। वह 20 प्रतिशत तक कम मुठ मारने से हुआ था।

12) मुठ मारने से संक्रमण से बचा जा सकता है (muth marne se sankraman se bacha ja sakta hai)

वर्तमान में ऐसी बीमारियां है। जिनका इलाज आज तक संभव नहीं हो पाया है, जैसे एड्स। व्यक्ती मुठ मार कर ऐसी बीमारियां खुद को होने से रोक सकता है।

Read this – मार्केट में कितने प्रकार के कंडोम (Condom) उपलब्ध हैं? कौन से कंडोम सुविधाजनक और सुरक्षित होते हैं?

मुठ मारने से कौन कौन सी बीमारियां होती हैं (muth marne se koun koun si bimariya hoti hai)

मुठ मारने को लेकर कई प्रकार की धारणाएं हमारे समाज में प्रचलित हैं। जैसे मुठ मारने से व्यक्ती बीमार होता है। मुठ मारने से व्यक्ती अंधा होता है, तथा कोई कहता है कि, मुठ मारने से व्यक्ती पागल होता है। लेकिन विज्ञान इन सभी बातों को नकारता है। विज्ञान के अनुसार मुठ मारने से किसी भी प्रकार की कोई बिमारी नही होती है। ये केवल समाज में फैली अफवाए है।

आपको बता दें कि, जैसे व्यक्ती के लिए खाना, कपड़ा, मकान जरूरी है, वैसे ही हर किसी के लिए मीटिंग भी जरूरी है। अपनी वासना की शुदा को शांत करने का यह एक प्राकृतिक तरीका है। आंकड़े बताते हैं कि, 70 प्रतिशत अविवाहित नियमित रूप से मुठ मारते हैं। इसलिए मुठ मारना कोई बिमारी नही है।

मुठ मारना ना तो गलत है और ना ही अनैतिक है। यदी आपको लगता है कि, मुठ मारना (muth marna) अच्छा नहीं है तो, आप इस बारे में डॉक्टर को जरूर पूछ सकते हैं। यदी आप डॉक्टर के पास जाना नही चाहते हैं, तो आप ऑनलाइन भी डॉक्टर को इसके बारे में पूछ सकते हैं।

दोस्तों ये थी मुठ मारने से क्या होता है (muth marne se kya hota hai)। इसकी विस्तृत जानकारी। यह जानकारी आपको कैसी लगी हमें कमेंट में जरूर बताए।

Read this –

👉 इस व्यक्ती का लिंग है दुनिया में सबसे बड़ा। लिंग इतना बड़ा कि, नाम है गिनीज़ बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड।

👉 इस महिला की योनी है दुनिया में सबसे बड़ी जानकर हैरानी होगी आपको

 

Spread the love

2 thoughts on “क्या आपके मन में भी यह सवाल आया है कि, मुठ मारने से क्या होता है (muth marne se kya hota hai) जाने इस लेख में”

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!