Skip to content

क्या आप जानते हैं पोर्नोग्राफी किसे कहते हैं और दुनिया में पॉर्नोग्राफी की शुरूआत कैसे हुई? (pornography kya hoti hai)

Pornography kya hoti hai
Rate this post

pornography kya hoti hai|

पॉर्नोग्राफी (pornography) मतलब ऐसे टेक्स्ट, फोटो, विडियो, ऑडियो और पुस्तक होती हैं, जिसमें नग्नता, अश्लीलता या यौन प्रसंगों को दिखाया जाता है। पोर्नोग्राफी मतलब संभोग का चित्रीकरण होता है। भारत में इस प्रकार के सामग्री पर रोक है। भारत में पोर्नोग्राफी बनाना उसे प्रसारित करना, देखना अवैध माना जाता है। लेकिन फिर भी भारत में इसके सबसे ज्यादा व्यूअर है।

पोर्नोग्राफी का इतिहास (pornography ka itihas)

आपको बता दें कि, दुनिया में पोर्नोग्राफी का इतिहास काफी पुराना है। इसका पहली बार आविष्कार यूरोप देशों में 1895 में हुआ था। पहली बार पोर्नोग्राफी 1895 में एउगुने फिराऊ और अल्बर्ट किच्नर ने बनाई थी। जो फ्रेंच भाषा में थी। यह पहली बार था, जब किसी महिला को नग्न अवस्था में दिखाया गया था। यह फिल्म यूरोप में इतनी हिट हुई थी कि, बाद में इस तरह की पोर्नोग्राफी बनाने का सिलसिला ही दुनिया में शुरू हुआ। मानो पोर्नोग्राफी बनाने की दुनिया में जैसी होड़ सी शुरु हुई। एउगुने फिराऊ और अल्बर्ट किच्नर द्वारा निर्मित इस पोर्नोग्राफी फिल्म ने उन दोनो को इतना पैसा कमा के दीया कि, फिल्म की कमाई को देखकर बाकी फिल्म निर्माता भी इसके तरफ़ आकर्षित हुए। जिसमें इंग्लैंड ने बाजी मारी।

लेकिन इस तरह की फिल्में बनाना और उनको प्रदर्शित करना पहले गैर कानूनी था। इसके लिए सजा का प्रावधान था। दुनिया के कानून ऐसा करने में सबसे बड़ा रोड़ा थे। पॉर्नोग्राफी शुरूआत में ब्लैक में ही चलती थी। 1920 के दशक तक अमेरिका और फ्रांस पोर्नोग्राफी का हब बन चुके थे। ज्यादातर ऐसी फिल्में इन देशों में ही बनती थी।

पोर्नोग्राफी के नुकसान (Pornography ke nukasan)

भारत सरकार ने 850 से अधिक पोर्न साइटों को भारत में बैन किया है। कुछ लोग सरकार के इस कदम का समर्थन कर रहे हैं, तो वही कुछ लोग इसका विरोध भी कर रहे हैं। पोर्नोग्राफी को लेकर बहुत से लोगों के मन मे यह सवाल आता है कि, पोर्नोग्राफी देखना सही है या गलत?

विशेषज्ञ इस बारे में कहते हैं कि, पोर्नोग्राफी देखना अच्छा है लेकिन तब तक, जब तक इसे मर्यादित रखा जाता है। हद से ज्यादा पोर्नोग्राफी को देखना सेहत के लिए अच्छा नहीं है। ज्यादा पोर्नोग्राफी देखने के कई सारे नुकसान है।

1) दिमाग का सिकुड़ना

रिसर्चर मानते है कि, जो महिला अथवा पुरुष ज्यादा पोर्नोग्राफी देखते हैं। उन लोगों का दिमाग पोर्नोग्राफी देखने से सिकुड़ जाता है और उनकी याददाश्त कमजोर हो जाती है। वे लोग खुद को अच्छा फील नहीं कर पाते हैं। हालाकी दिमाग का सिकुड़ना पोर्नोग्राफी के ही कारण होता है। इसका कोई ठोस आधार नहीं है।

2) शारीरिक कमजोरी

पोर्नोग्राफी की लत किसी भी महिला या पुरुष को अच्छी नहीं होती है। ज्यादा पोर्न देखने से शारीरिक कमजोरी भी आती है। तथा उन लोगों की सेक्स लाइफ भी इस कारण खराब हो जाती है।

3) असंतुष्टि

पोर्नोग्राफी में पोर्न मॉडल की फिगर को और उनकी सुंदरता को कमाल का दिखाया जाता है। इसके लिए खुद फिल्म की मॉडल भी खुद को फिट रखने के लिए काफी मेहनत करती है। असल लाइफ में हम वो कुछ भी नहीं पाते हैं, जो हमने पोर्नोग्राफी में देखा था। जिसके चलते महिला हो या पुरुष दोनो ही अपने पार्टनर से असंतुष्ठ रहते हैं।

4) ऑक्सीटोसिन लव हार्मोंन में कमी

ऑक्सीटोसिन लव हार्मोंन पुरुष और महिला दोनों को ही एक बंधन में बांध कर रखता है। यह एक शक्तिशाली हार्मोंन है। पोर्नोग्राफी देखने से पुरुष हो या महिला दोनों ही इस लव हार्मोंन को खो देते हैं।

5) सेक्स की लत

ज्यादा पोर्न देखना सेक्स लत का कारण भी बनता है। इससे कामोत्तेजना काफी बढ़ जाती है। जरूरत पूरी ना होने पर व्यक्ती को चिड़चिड़ापन लगता है। अपनी लत को शांत करने के लिए फिर पुरुष हो या महिला गलत रास्तों का सहारा लेने लगते है।

Read this – क्या आपके मन में भी यह सवाल आया है कि, मुठ मारने से क्या होता है?  जाने इस लेख में

पोर्नोग्राफी के फायदे (pornography ke fayde)

पोर्नोग्राफी के नुकसान के बारे में हर कोई चर्चा करता है। इसपर रिसर्च भी काफी हुई है। लेकिन पोर्नोग्राफी के केवल नुकसान ही नहीं, फायदे भी हैं। हाल ही में “रिपोर्ट जर्नल ऑफ सेक्स रिसर्च” में पब्लिश एक स्टडी में ये बात सामने निकल कर आई है कि, पोर्न देखने से इन्सान और ज्यादा बेहतर बनता है।

1) महिलाओ के प्रति सकारात्मक

रिसर्च में यह बात सामने आई है कि, जो पुरुष पोर्नोग्राफी देखते हैं। वे पुरुष महिलाओं के प्रति काफी सकारात्मक सोच रखते हैं। वे पुरुष महिलाओं और पुरुषों में किसी प्रकार का भेद नहीं करते हैं।

2) ज्ञान मिलता है

पोर्नोग्राफी (Pornography) देखने से किसी महिला या पुरुष को सेक्स के बारे में वो जानकारी प्राप्त होती है। जो उन्हे कोई नही बता पाता। जिन घरों में सेक्स के बारे में बच्चों को नही बताया जाता है वे इसी के माध्यम से ज्ञान अर्जित करते हैं।

3) इच्छा में बढ़ोतरी

कहा जाता है कि, पोर्नोग्राफी से सेक्स की इच्छा कम हो जाती है। लेकिन रिसर्च से यह बात भी पता चली है कि, पोर्नोग्राफी देखने से कुछ लोगों की सेक्स करने की इच्छा बढ़ी है।

4) नए पोजिशन की जानकारी

पोर्नोग्राफी (Pornography) से उन पोजीशनों की जानकारी मिलती है। जिनको करने से पार्टनर संतुष्ट होता है।

Read this –

मार्केटमें कितने प्रकार के कंडोम (Condom) उपलब्ध हैं? कौन से कंडोम सुविधाजनक और सुरक्षित होते हैं?

भारत में पोर्नोग्राफी पर कानून (bharat main pornography par bane kanun)

भारत में पोर्नोग्राफी को रोकने के लिए Anty-pornography law है। जिसके तहत पोर्नोग्राफी का अवैध रूप से निर्माण करना, किसी को भेजना, प्रकाशित करना आदी अपराध के दायरे में आता है। जो लोग दूसरों के पोर्न विडियो, फोटो निकालते हैं और उसे बिना सहमती के इस्तेमाल करते हैं। वे सब इस कानून के दायरे में आता है।

आपको बता दें कि, पोर्नोग्राफी तयार करना और उनका प्रचार- प्रसार करना अवैध है। लेकिन उसे देखना पढ़ना अवैध नही है। पर चाइल्ड पोर्नोग्राफी देखना भी अवैध है और अपराध के दायरे में आता है।

पोर्नोग्राफी पर भारत में आईटी कानून 2008 की धारा 67(ए), आईपीसी की धारा 292, 293, 294, 500 और 509 के तहत सजा दी जाती है। सजा की गंभीरता के लिहाज से पहली गलती पर दोषी को पांच साल की जेल तथा 10 लाख का जुर्माना लगता है। या फिर दोनो सजाए हो सकती है। दूसरी बार गलती करने पर 7 साल कीजेल का प्रावधान है।

चाइल्ड पोर्नोग्राफी पर भारत में बना कानून आईटी कानून 2009 की धारा 67 (बी), आईपीसी की धाराएं 292, 293, 294, 500, 506 और 509 कहता है कि, जो लोग बच्चों के पोर्न बनाते हैं, प्रसारित करते हैं, बेचते हैं और उन्हे देखते हैं। उन सभी को इन धाराओं के तहत जेल हो सकती है। इस कानून के तहत पहली बार दोषी पाए जाने पर, दोषी को पांच साल की जेल तथा 10 लाख का जुर्माना देना पड़ता है। दुसरी बार दोषी पाए जाने पर, दोषी को 7 साल की जेल और 10 लाख का जुर्माना है। तथा दोनो सजाए हो सकती है।

यह भी पढ़े – 

👉 इस महिला की योनी है दुनिया में सबसे बड़ी। साइज जानकर दंग रह जाएंगे आप।

👉 इस व्यक्ती का लिंग है दुनिया में सबसे बड़ा। साइज इतनी की नाम दर्ज है गिनीज़ बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड

दोस्तो यह थी पूरी जानकारी, पोर्नोग्राफी किसे कहते हैं और दुनिया में पॉर्नोग्राफी की शुरूआत कैसे हुई? (pornography kya hoti hai)। आपको यह जानकारी कैसी लगी हमें कमेन्ट बॉक्स में जरूर बताए। त्रुटि के लिए क्षमा।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!