Skip to content

सबसे ज्यादा रन बनाने वाली महिला खिलाड़ी मिताली राज स्कूल के गलियारे में करती थी बल्लेबाजी की प्रैक्टिस

Sabse jyada run banane wali mahila khiladi
Rate this post

सबसे ज्यादा रन बनाने वाली महिला क्रिकेटर कौन सी है? सबसे ज्यादा रन बनाने वाली महिला कौन सी है?सबसे ज्यादा रन बनाने वाली महिला खिलाड़ी २०२२| मिताली राज|mitali Raj|महिला क्रिकेट|


दोराई राज भारतीय एयरफोर्स में एक अधिकारी थे। उन्हे पता था कि, उनकी बेटी हर रोज सुबह देर तक सोती है। अगर ऐसे ही चलता रहा तो, वह जिंदगी में कुछ नही कर पाएंगी। इसलिए उन्होंने बेटी की भी बेटे के साथ साथ क्रिकेट की कोचिंग लगा दी। ताकी वह खेलने के लिए तो भी जल्दी उठेगी और क्रिकेट सीखेंगी।

लेकिन वहा पर भी उनकी बेटी क्रिकेट नही खेलती थी। वह अपना ज्यादा समय बाउंड्री के बाहर अपने स्कूल के होमवर्क को करने में बिताती थी। लेकिन वक्त के साथ उसे भी थोड़ा थोड़ा क्रिकेट में इंटरेस्ट आने लगा और वह भी अब भाई की तरह धीरे धीरे बल्लेबाजी सीखने लगी और क्रिकेट की प्रैक्टिस करती गई और एक दिन उसने क्रिकेट में वह मुकाम हासिल किया, जिसकी किसी ने कल्पना तक नहीं की थी। वह सबसे ज्यादा रन बनाने वाली महिला खिलाड़ी बनी।

दोस्तों हम बात कर रहे हैं सबसे ज्यादा रन बनाने वाली महिला खिलाड़ी मिताली राज की। जिसे लेडी सचिन तेंदुलकर के उपनाम से जाना जाता है। आइए जानते सबसे ज्यादा रन बनाने वाली महिला खिलाड़ी मिताली राज के जीवन, करियर और वर्ल्ड रिकॉर्ड के बारे में।

मिताली राज का प्रारंभिक जीवन

भारतीय महिला क्रिकेट टीम की कप्तान रह चुकी मिताली राज का जन्म 3 दिसंबर 1982 को राजस्थान के जोधपुर में हुआ। उनके माता पिता तमिल भाषी है। उनके माता का लीला राज, तो वही उनके पिता का दोराई राज है। जो भारतीय एयरफोर्स में एक अधिकारी थे। मिताली राज ने अपनी प्रारंभिक शिक्षा ‘कीज हाईस्कूल फॉर गर्ल’ से पूरी की। तो वही मिताली राज ने अपनी इंटरमीडिएट की शिक्षा सिकंदराबाद के ‘कस्तूरबा गांधी जूनियर कॉलेज फॉर वूमेन’ से की। कहा जाता है कि, मिताली राज ने दस साल की उम्र से ही क्रिकेट खेलना शुरू किया था। इसके पीछे भी एक रोचक कहानी है। बीबीसी हिंदी न्यूज के मुताबिक़ मिताली राज को क्रिकेट से ज्यादा भरतनाट्यम डांस करना अच्छा लगता था। लेकिन पिता को उनका देर सुबह तक सोना अच्छा नही लगता था और वे उसके भविष्य को लेकर चिंतित हो जाते थे। इसलिए उन्होंने बेटी मिताली राज को भी बेटे संग सिकंदराबाद के जॉन क्रिकेट अकादमी में कोचिंग के लिए भेजा।

 

View this post on Instagram

 

A post shared by Mithali Raj (@mithaliraj)

अपने बल्लेबाजी से कोच को प्रभावित किया

क्रिकेट में ज्यादा दिलचस्पी ना होने के कारण मिताली राज कोचिंग सेंटर पर बाउंड्री के बाहर बैठ कर अपना होमवर्क करती थी। लेकिन वक्त के साथ मिताली को भी क्रिकेट अच्छा लगने लगा था। जिसके चलते मिताली राज ने भी अपने भाई के साथ धीरे धीरे बल्लेबाजी का अभ्यास शुरू किया।

बीबीसी हिंदी न्यूज के मुताबिक़, सबसे ज्यादा रन बनाने वाली महिला खिलाड़ी मिताली राज के बल्लेबाजी से अकादमी के कोच ज्योती प्रसाद इतने प्राभावित हुए कि, उन्हे मिताली राज में भारत का भविष्य दिखने लगा। मिताली राज को एक अच्छा बल्लेबाज बनाने के लिए उन्होंने मिताली राज को नए कोच संपत कुमार के पास भेजा। जो पहले से ही हैदराबाद के दो महिला टीमों को प्रशिक्षित कर रहे थे। नए कोच से मिलने पर मिताली राज का क्रिकेट में इंटरेस्ट और बढ़ा।

स्कूल के गलियारे में की बल्लेबाजी की प्रैक्टिस

कोच संपत कुमार मिताली राज को हर दिन लगभग छह घंटे तक प्रशिक्षण दिया करते थे। वे मिताली राज को सुबह चार बजे से दस बजे तक प्रशिक्षित करते थे। आपको जानकर हैरानी होगी कि, दुनियां की सबसे ज्यादा रन बनाने वाली महिला खिलाड़ी मिताली राज ने स्कूल के गलियारे में अपने बल्लेबाजी की प्रैक्टिस की। स्कूल के गलियारे में क्रिकेट सिखाने के पिछे उनके कोच संपत कुमार की अलग मंशा थी। कोच संपत कुमार की मंशा यह थी कि, वे चाहते थे मिताली राज हर शॉट को बैट के मिडल हिस्से से खेलने में माहिर बने।

क्रिकेट मंथली को दिए इंटरव्यू में दुनिया की सबसे ज्यादा रन बनाने वाली महिला खिलाड़ी मिताली राज ने इस बात का जिक्र किया था कि, जब वह स्कूल के गलियारे में क्रिकेट का अभ्यास करती थी, तब बहुत बार उनकी गेंद दीवार से टकरा जाती थी। उनके कोच चाहते थे कि, उनकी गेंद दीवार से ना टकराए। लेकिन उनकी गेंद बहुत बार दीवार से टकरा जाती थी। लेकिन जब ऐसा उनसे होता था, तब उनके कोच उन्हे छड़ी से पिट देते थे।

दुनिया की सबसे ज्यादा रन बनाने वाली मिताली राज जिसे लेडी सचिन तेंदुलकर भी कहा जाता है। वक्त के साथ क्रिकेट में इतनी रम चुकी थी कि, वह घर के किसी भी कार्यक्रम में बाद में हिस्सा नहीं ले पाती थी। बीबीसी हिंदी न्यूज के मुताबिक़, मिताली राज को उनके दादा दादी हमेशा ताने मारते थे कि, लड़को का खेल है। लेकिन मिताली राज फिर भी पीछे नहीं हटी और लगातार मेहनत करती रही। फिर एक दिन ऐसा आया कि, वह दुनिया की सबसे ज्यादा रन बनाने वाली महिला खिलाड़ी 2021 बनी।

 

View this post on Instagram

 

A post shared by Mithali Raj (@mithaliraj)

आंतरराष्ट्रीय करियर

वनडे डेब्यू में शतक

घंटो की मेहनत और टैलेंट के चलते मिताली राज को मौके भी जल्दी मिले। 1997 में महज 14 साल की उम्र में उनका चयन आंध्रप्रदेश की टीम में हुआ। जहा मिताली राज ने अपने मेहनत का जलवा दिखाया। उसके बाद 1999 को महज 16 साल की उम्र में ही उन्हे भारतीय टीम के लिए खेलने का पहला मौका मिला। 1999 में आयरलैंड के खिलाफ़ इंग्लैड में खेले गए डेब्यू मैच में मिताली राज ने बिना आउट हुए 114 रन बनाए। महज 16 साल की उम्र में 114 रनों की बेहतरीन पारी खेलने वाली मिताली राज भारत की पहली महिला खिलाड़ी बनी। तो वही दुनिया की दुसरी महिला खिलाड़ी बनी।

क्रिकेट में सबसे लंबा करियर

सबसे ज्यादा रन बनाने वाली महिला खिलाड़ी मिताली राज के नाम एक और रिकॉर्ड यह है कि, वह वनडे क्रिकेट में दो दशक पुरा करने वाली इकलौती महिला खिलाड़ी है। आपको बता दें कि, मिताली राज ने 1999 में अपना पहला आंतरराष्ट्रीय वनडे मैच खेला और 2022 में आखिरी वनडे मैच। इसी तरह 2006 में पहला टी20 मैच खेला और 2019 में आखरी टी 20 मैच। टेस्ट मैच में दोहरा शतक लगाने वाली पहली भारतीय महिला खिलाड़ी मिताली राज ही है।

बतौर कप्तान दो वर्ल्ड कप फाइनल खेलने वाली खिलाड़ी

मिताली राज ने भारतीय महिला क्रिकेट टीम की दो बार कप्तानी की। उनकी कप्तानी में भारत दो बार वर्ल्ड कप फाइनल में पहुंचा। हालाकी दोनों वर्ल्ड कप में भारत को हार मिली। लेकिन दो बार वर्ल्ड कप में कप्तानी करने वाली मिताली राज भारत की एकमात्र खिलाड़ी है।

सबसे ज्यादा वनडे मैच जीतने वाली कप्तान

दैनिक जागरण रिपोर्ट के मुताबिक़, मिताली राज ने सबसे ज्यादा कप्तानी वनडे मैचो में की। आपको बता दें कि, मिताली राज ने 155 वनडे मैचों की कप्तानी की। जिसमें से 89 मैच उनके नेतृत्व में भारत ने जीत लिए और 63 मैचों में भारत को हार का सामना करना पड़ा। मिताली राज को सबसे ज्यादा वनडे मैच जीतने वाली महिला खिलाड़ी भी कहा जाता है। मिताली राज के बाद दुसरी सबसे ज्यादा वनडे मैच जीतने वाली महिला खिलाड़ी कप्तान इंग्लैड की चार्लोट एडवर्ड है।

वनडे में सबसे ज्यादा रन बनाने वाली महिला खिलाड़ी

मिताली राज वनडे मैचों में सबसे ज्यादा रन बनाने वाली इकलौती महिला खिलाड़ी 2021 है। वनडे में सबसे ज्यादा रन बनाने वाली खिलाड़ी मिताली राज ने 7805 रन बनाकर यह रिकॉर्ड अपने नाम किया है।

सबसे ज्यादा अर्धशतक लगाने वाली महिला खिलाड़ी

सबसे ज्यादा रन बनाने वाली महिला खिलाड़ी मिताली राज दुनिया की एकमात्र सबसे ज्यादा अर्धशतक लगाने वाली महिला खिलाड़ी है। मिताली राज ने यह रिकॉर्ड वनडे मैचों में सबसे ज्यादा अर्धशतक लगाकर बनाया। उन्होंने यह रिकॉर्ड ICC महिला विश्व कप 2017 में बनाया था। मिताली राज ने अपने पूरे करियर में 64 अर्धशतक लगाए, जो अबतक के इतिहास में सबसे ज्यादा है। तो वहीं दुसरी सबसे ज्यादा अर्धशतक लगाने वाली महिला खिलाड़ी इंग्लैड की चार्लोट एडवर्ड है। जिसने 46 अर्धशतक लगाए।

सबसे ज्यादा रन बनाने वाली महीला खिलाड़ी

मिताली राज दुनिया की एकमात्र ऐसी महिला खिलाड़ी है जिसने आंरतराष्ट्रीय महीला क्रिकेट के तीनों फॉर्मेट में सबसे अधिक रन बनाए हैं। सबसे अधिक रन बनाने में मिताली राज ने इंग्लैड के चार्लोट एडवर्ड को भी पीछे छोड़ दिया। जिसने क्रिकेट के तीनों फॉर्मेट में 10273 बनाए थे। मिताली राज ने चार्लोट एडवर्डस के इस रिकॉर्ड को 10868 रन बनाकर तोड़ा। आपको बता दें कि, यह स्कोर महीला क्रिकेट में सबसे ज्यादा है। अपने इस रिकॉर्ड के कारण दुनिया मिताली राज को लेडी सचिन इस उपनाम से भी जानती है

एक पारी में सबसे ज्यादा रन बनाने वाली महिला खिलाड़ी

टेस्ट मैच के एक पारी में सबसे ज्यादा रन बनाने का रिकॉर्ड भी मिताली राज के नाम है। मिताली राज से पहले यह रिकॉर्ड के एल रोल्टन (इंग्लैड) के नाम था। जिसने 2001 मे 313 गेंदों में 209 रन बनाए थे। मिताली राज ने के एल रोल्टन का यह यह रिकॉर्ड 2002 में 407 गेंदों में 214 रन बनाकर तोड़ा था। मिताली राज एक पारी में सर्वाधिक रन बनाने वाली पहली भारतीय महिला खिलाड़ी भी है। लेकिन जैसे मिताली राज ने के एल रोल्टन का रिकॉर्ड तोड़ा था, ठीक वैसे ही मिताली राज का रिकॉर्ड पकिस्तान की महीला खिलाड़ी किरण बलूच ने 242 रन बनाकर तोड़ दिया।

इस प्रकार कई रिकॉर्ड मिताली राज ने अपने करियर में बनाए हैं।

मिताली राज को प्राप्त पुरस्कार

दुनियां की सबसे ज्यादा रन बनाने वाली महिला खिलाड़ी मिताली राज को अपने करियर के लिए कई पुरस्कार मिले। आपको बता दें कि, मिताली राज को 2003 में अर्जुन पुरस्कार मिला। उसके बाद 2015 में भारत का चौथा सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार पद्मश्री पुरस्कार मिला। 2017 में यूथ स्पोर्ट्स आयकॉन ऑफ एक्सीलेंट अवार्ड मिला। वोग स्पोर्ट्सपर्सन ऑफ द ईयर अवार्ड, बीबीसी 100 महीला अवार्ड 2017, विजडन लीडिंग वूमेन क्रिकेटर इन द वर्ल्ड अवार्ड 2017। इनके व्यतिरिक्त मिताली राज को देश का सर्वोच्च खेल सम्मान (खेलरत्न पुरस्कार 2021) भी प्राप्त हुआ।

यह थी भारत में औरतों के क्रिकेट को पहचान देने वाली महान बल्लेबाज मिताली राज उर्फ लेडी सचिन तेंदुलकर।

और पढ़ें – स्मृति मंधाना का जीवन परिचय | Smriti Mandhana biography

 

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!