जाने ling ढीलापन दूर करने की आयुर्वेदिक दवा आयुर्वेदिक जिन्हे काफी प्रभावी माना जाता है

ढीलापन दूर करने की दवा आयुर्वेदिक: आपको जानकर हैरानी होगी कि, भारतीय रिसर्च एवम अनुसंधान के रिपोर्ट के अनुसार, वर्तमान में भारत में 40 साल से अधिक उम्र के लगभग 20% पुरुष लिंग के ढीलापन की समस्या से प्रभावित पाए गए हैं। और समय के साथ, यह संख्या बढ़ती ही जा रही है, और अब तो हालात यहां तक आ पहुंचे है कि, इस समस्या का सामना 40 साल से कम उम्र के पुरुषों को भी करना पड़ रहा है।

आपकों बता दें कि, बदलते जीवन शैली के कारण और गलत खान पान के कारण युवाओं से लेकर बड़े बड़े पुरुषों तक में वर्तमान में लिंग ढीलापन की समस्या देखने को मिल रही है। इसे इरेक्टाइल डिसफंक्शन (Erectile dysfunction), जिसे हिंदी में स्तंभन दोष या पेनिस या लिंग में तनाव का ना बनने के रूप में भी जाना जाता है, वर्तमान में यह एक सामान्य यौन समस्या बनी बैठी है जो पुरुषों में आमतौर पर देखने को मिल रही है।

लिंग के ढीलापन के कारण

हम ढीलापन दूर करने की आयुर्वेदिक दवा के बारे में जाने इससे पहले हमें इससे जुडे सामान्य कारणों के बारे में जानना बहुत जरूरी है। आपकों बता दें कि, लिंग के ढीलापन के कई सारे कारण है लेकिन पांच कारण ऐसे है जिन्हे हम अक्सर नज़र अंदाज करते हैं और सबसे ज्यादा इन्ही के कारण पुरुषों में ढीलापन की समस्या निर्माण होती है।

1) शारीरिक स्वास्थ्य के कारण: शरीर का स्वास्थ्य भी लिंग के ढीलापन के लिए जिम्मेदार हैं। हृदय रोग, मधुमेह, उच्च रक्तचाप, मोटापा और निद्रा इन शारीरिक स्वास्थ्य समस्याओं के कारण किसी भी उम्र के पुरूष में ढीलापन उत्पन्न हो सकता हैं।

2) दवाएं: हम अपनी बीमारियों को ठीक करने के लिए डॉक्टर के दिए गए दिवाओ का नियमित सेवन करते हैं। जैसे कि कुछ एंटीडिप्रेसेंट, रक्तचाप की दवाएं, दर्द निवारक दवाएं और हार्मोन रिप्लेसमेंट थेरेपी आदी के कारण भी ढीलापन की समस्या हो सकती हैं।

3) मानसिक: लिंग के ढीलापन के लिए सिर्फ दवाएं और शारिरिक अस्वस्थता ही जिम्मेदार नहीं हैं बल्कि, मानसिक समस्याएं भी जिम्मेदार है। जैसे कि तनाव, चिंता, अवसाद, कम आत्मसम्मान और अतीत की यौन घटना इनके चलते भी पेनिस में ढीलापन हो सकता हैं।

4) जीवनशैली: खराब जीवनशैली एक बहुत बड़ा कारक है जिसके कारण पेनिस में ढीलापन आता है। धूम्रपान, शराब का सेवन, नशीली दवाओं का उपयोग, निंद की कमी, गलत खान पान आदी के कारण भी यह होता है।

5) कम टेस्टोस्टेरोन: टेस्टोस्टेरोन एक पुरुष हार्मोन है जो यौन इच्छा और प्रदर्शन के लिए महत्वपूर्ण है। यदी इसमें कमी आती है तो व्यक्ती के लिंग में तनाव कम होता है। टेस्टोस्टेरोन का स्तर काफी प्रमुख भूमिका निभाता है।

उपर बताए गए सभी कारण आम है जो सबसे ज्यादा लिंग का ढीलापन के बारे में देखने को मिलते हैं अब हम जानते हैं इसे दूर करने के लिए कोण सी आयुर्वेदिक दवाएं सबसे ज्यादा कारगर मानी जाती है। तो चलिए जानते हैं, ढीलापन दूर करने की आयुर्वेदिक दवा कोण कोण सी है।

ढीलापन दूर करने की दवा आयुर्वेदिक

मन्मथ रस (Manmath Ras)

मन्मथ रस लिंग का ढीलापन दूर करने की एक प्रमुख आयुर्वेदिक दवा है। जिन पुरुषों में इरेक्टाइल डिसफंक्शन, ढीलापन या नसों में कमजोरी है उन्हे यह दवा जरुर लेनी चाहिए। ढीलापन दूर करने वाली इस आयुर्वेदिक दवा में कौंच, शतावरी, विदारीकंद, अभ्रक भस्म, जायफल और अन्य औषधीय घटक है। जो यौन समस्याओं को दूर करने के लिए जरुरी होते है। यह दवा आमतौर पर टेबलेट के रूप में आती है और इसे सात दिन में दो बार डॉक्टर की सलाह से लेना चाहिए।

शिवा गुटिका (Shiva Gutika)

शिवा गुटिका भी लिंग का ढीलापन दूर करने की एक प्रमुख देसी आयुर्वेदिक दवा है। इस दवा में शिलाजीत के अद्भुत गुण हैं। जो न केवल लिंग का ढीलापन दूर करने के लिए मददगार है बल्की लिंग में तनाव को बनाए रखने में भी मददगार है। दावा किया जाता है कि, यह आयुर्वेदिक दवा लिंग का ढीलापन दूर करने के अलावा शरीर को ऊर्जा, ताकत, और शक्ति प्रदान करने में भी मदद करती है।

हिमालया कॉन्फीडो (Himalya Confido)

हिमालया कॉन्फीडो (Himalaya Confido) का यूज यौन समस्याओं जैसे कि यौन दुर्बलता, असमर्थता और यौन इच्छा की कमी के इलाज के लिए किया जाता है। हिमालया कॉन्फिडो के सेवन से लिंग का ढीलापन दूर करने में भी मदद मिलती है। यह दवा पुरुषों के यौन स्वास्थ्य को बेहतर करने में और बुरे प्रभावों को कम करने में मदद करती है। इस आयुर्वेदिक दवा को भी डॉक्टर की सलाह से लेना चाहिए।

डाबर शिलाजीत गोल्ड कैप्सूल

यह Dabur कंपनी की सबसे अच्छी आयुर्वेदिक दवा है जो कैप्सूल के रुप में आती है। यह दवा पुरुषों के सभी यौन समस्याओं को दूर करने में काफी असरदार मानी जाती है। इस दवा को amazon app पर 15k के आसपास रेटिंग मिली हुई है। डाबर शिलाजीत गोल्ड कैप्सूल लिंग का ढीलापन दूर करने की प्रमुख आयुर्वेदिक दवा में से एक है। यह कई समस्याओं के लिए इस्तेमाल की जाती है। यदी आप इसे लेने की सोच रहे हैं तो आपको इसे डॉक्टर की सलाह से लेना चाहिए।

यह ध्यान रखना महत्वपूर्ण है कि ये केवल सामान्य सुझाव हैं और आपको किसी भी आयुर्वेदिक दवा या उपचार को लेने से पहले किसी योग्य आयुर्वेदिक डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए।

Leave a Comment